Search

हनुमान चालीसा मैनेजमेंट शिक्षा की बुनियाद है, राष्ट्रपुत्र आज़ाद



संस्कृत पुनरूत्थान के महानायक आज़ाद ने कहा कि अजर अमर हनुमान करोड़ों सनातनियों के आराध्य है, उन करोड़ों लोगों की तरह मेरी भी दिनचर्या हनुमान चालीसा पढ़ने से शुरू होती है।उन्होंने सम्मेलन में कहा कि श्री हनुमान चालीसा में 40 चौपाइयां हैं, जो मात्र चौपाइयां नहीं है पूरा जीवन क्रम है, जो हर युग में इंसानों का मार्गदर्शन करती हैं. और इसे तुलसीदास जी ने उस क्रम में लिखा हैं जो एक आम आदमी की जिंदगी का क्रम होता है।