Search

संस्कृतपुत्र मेगास्टार आज़ाद का संस्कृत भारती को धन्यवाद

संस्कृत एवं संस्कृति के मनुष्यों के लिए संस्कृत भारती के द्वारा देश की राजधानी दिल्ली में विश्व संस्कृत सम्मेलन का आयोजन एक महत्वपूर्ण घटना है।इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम के विषय में सैन्य विद्यालय के छात्र,सनातनी-राष्ट्रवादी एवं संस्कृतपुत्र मेगास्टार आज़ाद ने अपने गुरुगंभीर वज्रकंठ स्वर में कहा कि विगत शनिवार से तीन दिवसीय महासम्मेलन जिसमें सत्रह देशों के संस्कृत प्रेमी,संस्कृतजीवी एवं संस्कृत साधकों ने भाग लिया ये ऐतहासिक उपलब्धि है। आज़ाद ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि समय का वर्तूल पूरा हो चुका है।नए भारत का नया सूर्योदय क्षितिज पर दिख रहा है।सदियों-अब्दों -सहस्राब्दों की सांस्कृतिक-राजनैतिक एवं आध्यात्मिक दासता के बाद आज सही अर्थों में भारत का अर्थ प्रकट हो रहा है।